सोमवार, अप्रैल 6, 2020

CAB: मिथक और तथ्य

Source: - https://twitter.com/mpopat/status/1206644864751783938 https://twitter.com/mpopat/status/1206645324841766921 ...

प्रोजेक्ट थेसालोनिका और जल्लीकट्टू जैसे लोकप्रिय हिंदू त्योहारों पर इसका प्रभाव

धार्मिक रूपांतरण का काम |संक्रांत सानू| जोशुआ प्रोजेक्ट

क्या भारत मिशनरी गतिविधियों के लिए एक अरक्षित लक्ष्य है – संक्रांत सानू | जोशुआ प्रोजेक्ट

मानव अधिकारों के घूंघट के नीचे धार्मिक रूपांतरण| प्रोजेक्ट थेसालोनिका| देशी परंपराएं

लगभग सभी अफ्रीकी देशों की सीमाएं यूरोपीय लोगों द्वारा अफ्रीकी लोगों की सहमति या भागीदारी के बिना तय की गई थीं

भारत में बलपूर्वक धर्मान्तरण हेतु ईसाई चर्च द्वारा नरसंहार

भारत में इसाई मिशनरियों के विषय में डॉ. सुरेंद्र जैन का व्याख्यान

‘वेस्टफेलिया की शांति-संधि’ क्या है?, इस घटना और इससे पैदा गतिरोध के कारण

यूरोप के आदिवासी समुदायों के विलुप्त होने में क्रिश्चन मिशनरियों का हाथ

इसाई पंथ और भारत – डॉ. सुरेन्द्र कुमार जैन का व्याख्यान

अतिसंवेदनशील हिन्दुओं और धर्मांतरण

गोवा के धर्मं न्यायाधिकरण में ‘ऑटो दा फे’ और अन्य यातनाओ के तरीके

खलीफत आंदोलन और महात्मा गाँधी – शंकर शरण का व्याख्यान

खलीफत आंदोलन (1919-21) भारत में महात्मा गाँधी का पहला और सब से बड़ा राजनीतिक अभियान था। कांग्रेस नेतृत्व, मुस्लिम राजनीति, हिन्दू...

खलीफत आंदोलन और महात्मा गाँधी – शंकर शरण का व्याख्यान

खलीफत आंदोलन (1919-21) भारत में महात्मा गाँधी का पहला और सब से बड़ा राजनीतिक अभियान था। कांग्रेस नेतृत्व, मुस्लिम राजनीति, हिन्दू-मुस्लिम संबंध और भारत के भविष्य के लिए उस के बड़े गहरे और द...

वैदिक विश्वदृष्टि – एक परिचय: श्री मृगेंद्र विनोद से प्रश्नोत्तर

वैदिक विश्वदृष्टि पर बातचीत का उद्देश्य इस सत्र के माध्यम से वेदों के बारे में एक परिचयात्मक समझ प्रदान करना है, फिर इसके बाद निकट भविष्य में शायद अधिक विस्तृत सत्र आयोजित होंगे। ...

भारतीय इतिहास का भारत के दृष्टिकोण से पुनर्लेखन होना चाहिए — अमित शाह

Source: - @AmitShah / Twitter. https://twitter.com/amitshah/status/1184809893041041409?s=12 इस सभागार में इतिहास के कई विद्वान् बैठे हैं| बालमुकुन्द जी भी यहाँ बैठे हैं जो इतिहास सं...

जिहाद और मुस्लिम धर्मविधान पर डॉक्टर बी.आर. अम्बेडकर के विचार

https://youtu.be/q6Ne9WtypyQ?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 एक मुस्लिम की अपनी मातृभूमि [भारत] के प्रति निष्ठा पर, अंबेडकर लिखते हैं: "नोटिस के लिए बुलाने वाले सिद्धांतों में इस्लाम क

अंबेडकर की इस्लामिक समझ

https://www.youtube.com/watch?v=PBoVNta9oSo?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 हालाँकि, हम यह नहीं जानते किवे दुनिया के अन्य महान धर्मों जैसे इस्लाम के बारे में क्या सोचते थे। क्योंकि अम्...

गुरु तेग बहादुर का धर्मार्थ प्राण त्यागने से पहले औरंगजेब के साथ संवाद

https://www.youtube.com/watch?v=DBFIiqysBIY?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 गुरुदेव बोले, "300 वर्ष पहले हमारे देश में औरंगजेब नाम का निर्दयी राजा था। उसने अपने भाई को मारा, पिता को बं

एक कश्मीरी शरणार्थी शिविर का नाम ‘औरंगज़ेब का स्वप्न’ क्यों रखा गया? – मनोवैज्ञानिक आघात का ऐतिहासिक संदर्भ पढ़ें

https://www.youtube.com/watch?v=6a5moK26JAw&t=1s?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 मैं एक कहानी आपसे साझा करूंगा, क्योंकि मुझे लगता है कि कहानी लोगों को यह बताने का सबसे अच्छा तरीक...

इसाई पंथ और भारत – डॉ. सुरेन्द्र कुमार जैन का व्याख्यान

संपूर्ण विश्व में प्रेम व शान्ति का स्वरुप माने जाने वाले इसाई धर्म के विस्तार का इतिहास रक्त से सना है, ये तथ्य कम ही लोग जानते हैं| यूनान, रोम व माया जैसी कई प्राचीन संस्कृतियाँ इसाई मिशनर

वैदिक काल में जनपदों का भूगोल

https://youtu.be/X84seX-D-CE?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 भारतीयों में एक सामान्य भ्रांति है कि जनपद (प्राचीन भारत में राज्य या प्रशासनिक इकाई) केवल बुद्ध काल में हुआ करते थे वैदिक ...

अठारहवीं शताब्दी के समय प्रचलित भारतीय शिक्षा प्रणाली पर प्रस्तुत ब्रिटिश रिपोर्ट

https://www.youtube.com/watch?v=obVouUw1KIs?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   अपने लंदन प्रवास के दौरान धर्मपाल को कुछ अत्यंत महत्वपूर्ण पुरालेख सामग्री को देखने का अवसर मिला - ब...

अपनी भाषा चुनें

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 852 other subscribers

Follow Us on Facebook

Follow Us on Twitter

पुरालेख

जिहाद और मुस्लिम धर्मविधान पर डॉक्टर बी.आर. अम्बेडकर के विचार

https://youtu.be/q6Ne9WtypyQ?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 एक मुस्लिम की अपनी मातृभूमि [भारत] के प्रति निष्ठा पर, अंबेडकर लिखते हैं: "नोटिस के लिए बुलाने वाले सिद्धांतों मे

अंबेडकर की इस्लामिक समझ

If your Patriotism is Questioned ask yourself not us – Sardar Patel to Indian Muslims [Hindi Speech]

तुम हमारी चोटियों की बर्फ़ को यों मत कुरेदो

शक्ति और क्षमा (रामधारी सिंह)

पश्चिमी देशों के पास भारत के राष्ट्रवादी चरित्र पर सवाल उठाने का कोई अधिकार या आधार क्यों नहीं है

https://youtu.be/jUy3hj6nb3k?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 यदि आप 2000 ईसवी के मानचित्र को देखें, तो आयरलैंड अलग हो गया है। कोई भी देश 1800 ईसवी, 1500 ईसवी, 1000 ईसवी, में

यूरोप में 1500 ई. तक राष्ट्र राज्यों की अनुपस्थिति

ब्रिटिश आक्रमणकारियों ने भारत को कैसे लूट लिया – विल ड्यूरेंट का ‘द केस फॉर इंडिया’

अर्थनैतिक दक्षिणपंथियों के क्रियाकर्म किस प्रकार से राष्ट्रविरोधी हैं?

राष्ट्र की भूमिकाएं क्या हैं और राष्ट्र को अपने नागरिकों को पूर्ण स्वतंत्रता क्यों नहीं देनी चाहिए

प्रोजेक्ट थेसालोनिका और जल्लीकट्टू जैसे लोकप्रिय हिंदू त्योहारों पर इसका प्रभाव

रक्षा, सांप्रदायिक सद्भाव और शासन के लिए कौटिल्य की रूपरेखा

हिन्दू मंदिरों को हिंदुओं के हवाले के लिए अनुच्छेद २६ में संशोधन

धार्मिक रूपांतरण का काम |संक्रांत सानू| जोशुआ प्रोजेक्ट

क्या भारत मिशनरी गतिविधियों के लिए एक अरक्षित लक्ष्य है – संक्रांत सानू | जोशुआ प्रोजेक्ट

मुगलों और अंग्रेजों ने भारत में व्यापक गरीबी कैसे पैदा की

भारत समृद्ध क्यो नही है? अतनु डे। भारतीय अर्थिक नीतियाँ

मानव अधिकारों के घूंघट के नीचे धार्मिक रूपांतरण| प्रोजेक्ट थेसालोनिका| देशी परंपराएं

हिन्दू देवी-देवता और संस्कृत जापानी संस्कृति के अभिन्न अंग हैं – बिनोय के बहल – भारत का भित्तिचित्रण

लद्दाख से बीजेपी सांसद जमयांग त्सेरिंग नामग्याल का धारा 370 को जम्मू-कश्मीर से हटाने को लेकर वक्तव्य

जिहाद और मुस्लिम धर्मविधान पर डॉक्टर बी.आर. अम्बेडकर के विचार

जर्मनी के लोग भारतीय भाषाओं के सम्मोहित करने वाले चरित्र से घृणा क्यों करते हैं?

लगभग सभी अफ्रीकी देशों की सीमाएं यूरोपीय लोगों द्वारा अफ्रीकी लोगों की सहमति या भागीदारी के बिना तय की गई थीं

पश्चिमी देशों के पास भारत के राष्ट्रवादी चरित्र पर सवाल उठाने का कोई अधिकार या आधार क्यों नहीं है

अयोध्या राम जन्मभूमि: कण कण में रची बसी स्मृति का विनाश और इसका पुनर्स्थापना आवश्यक क्यों – मनोवैज्ञानिक विश्लेषण

1935 ब्रिटिश भारत अधिनियम द्वारा शासित कॉलेजियम सहित भारतीय न्यायिक प्रणाली – संक्रांत सानु

Sarayu trust is now on Telegram.
#SangamTalks Updates, Videos and more.