Home > 2017

मुस्लिम आक्रमणकारियों का मूर्तिभञ्जन

https://www.youtube.com/watch?v=S1TLN8sKzqo?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 एस्किमोज़ ने मन्दिर को तोड़ा इसकी पुष्टि पिछली शताब्दियों में उन्होंने स्वयं अनेकदा की है , बस पिछले ही कुछ दशकों से पहले तो कुछ सेक्युलरवादी , उनके पीछे पीछे हिमवासी , कहने लगे हैं कि न केवल मन्दिर का गिराना झूठी बात है , वहाँ कभी कोई मन्दिर था

Read More

अयोध्या खुदाई के पुरातात्विक निष्कर्ष और धर्मनिरपेक्षवादी इतिहासकारों ने उनसे त्याग दिया

https://www.youtube.com/watch?v=Zn0_RCv8uYw?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 लगभग १९५० से अयोध्या को लेकर न्यायालय में वाद चल रहा था , खींचते खींचते २००२ में जाकर अलाहाबाद उच्च न्यायलय ने विवादित स्थल के उत्खनन का आदेश दिया । ये पहला उत्खनन नहीं था , इससे पहला उत्खनन बहुत लघु था । १९७० के दशक में बृज बिहारी लाल

Read More

अयोध्या विवाद में धर्मनिरपेक्ष इतिहासकारों के हिंदूविरोधी राय

https://www.youtube.com/watch?v=wmqW5pNQk0E?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 १९८० तक भी, उस स्थल पर क्या हुआ इस विषय को लेकर बड़ी सहमति थी । हिमवासी , यूरोपीय यात्री , यूरोपीय उपनिवेशी और हिन्दू भी यही मानते थे कि मस्जिद ने बलपूर्वक एक हिन्दू मन्दिर हटाया है । १८८० में न्यायालय में इसपर एक ब्रिटिश न्यायाधीश ने अन्तिम निर्णय

Read More

पश्चिमी धार्मिक विद्वानों ने अपने धार्मिक युगों से औरंगजेब को दोषमुक्त

https://www.youtube.com/watch?v=fbhtpUrr0so?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 आजकल ऑड्रे ट्रश्क के काम की बहुत चर्चा है , जो कि अमेरीका में प्रोफेसर है और जिसका दावा है कि औरंगज़ेब एक भला आदमी था , और उसका कहना है कि बहुत से अपराध जिनके लिये औरंगजेब का नाम लगाया जाता है वे कभी घटे ही नहीं । वो

Read More

धर्मनिरपेक्ष विद्वानों की मूर्तिभंजन के इतिहास को छिपाने के तर्क और चालें

https://www.youtube.com/watch?v=BZQwrPxRLVI?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 अब एक व्यक्ति हैं रिचर्ड ईटन नाम के , अमरीकन हैं , अपने आप को एक साम्यवादी बुद्धिजीवी बताते हैं और कहते हैं , हिन्दुओं ने एक बहुत बड़े स्तर पर मन्दिर तोड़े , यह उनकी प्रवृत्ति थी , परन्तु बहुत प्रयास करने पर भी उन्हें कुछ ही उदाहरण मिलते

Read More

क्यूँ हमें अवश्य उस विचार को समझना चाहिये जिसने इस्लामिक आक्रान्ताओं का मार्गदर्शन किया

https://www.youtube.com/watch?v=cfAg9c6FKUw?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 मुझे उसके आनन्द लेने में आपत्ति नहीं क्यूँकि मैं सोचता हूँ कि व्यक्तियों का निर्दोष या सदोष होना बहुत महत्त्वपूर्ण नहीं है, शायद यदि किसी न्यायाधीश को निर्णय करना हो तब उस समय के लिये वो इसे महत्त्वपूर्ण समझ सकता है । परन्तु ऐतिहासिक दृष्टिकोण से यह बिल्कुल महत्त्वपूर्ण नहीं है

Read More

क्यूँ सर्वोच्च न्यायालय को अयोध्या मामले में अवश्य एक निश्चित निर्णय देना चाहिये

https://www.youtube.com/watch?v=Brqk9itGVpc?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 ६० वर्ष पीछे , ३० सितम्बर २०१० को निर्णय आया , यह एक मिश्रित निर्णय था क्योंकि, दो हिन्दू और एक एस्किमो याचिकाकर्त्ता में से, एस्किमो को उस पहाड़ी में से थोड़ा अंश तो मिल गया परन्तु स्वयं वो विवादित स्थल निश्चित रूप से हिन्दुओं को मिला और न्यायालय ने

Read More

ओडिया और श्री लंका

  https://www.youtube.com/watch?v=mrWhpsQfSW8?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 इसी दौरान पूर्वी दिशा की ओर, जो क्षेत्र आज कल बंगाल और उड़ीसा कहलायें जातें हैं, सामुद्रिक गति-विधियों में अचानक वृद्धि देखने को मिलती हैं I गंगा के सुदूर पश्चिमी क्षेत्र से लेकर, आज कल जिसे हम हूगली कहतें हैं, चिलिका झील तक के समुद्री किनारे पर सामुद्रिक गति विधियों

Read More

भारत को सभी उत्पीड़ित भारतीय समुदायों को शरण देनी चाहिये

https://www.youtube.com/watch?v=JUtgxFOSGJk?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 मैं ये तर्क नहीं दूँगा कि हमारे पास पर्याप्त संसाधन नहीं हैं और ये पहले ही अति जनसंख्या वाला देश है तो और अधिक लोगों को यहाँ स्वीकार न किया जाये । क्षमा कीजिये, मैं बिलकुल भी इस स्थिति को स्वीकार नहीं करूँगा, इस कारण से कि मैं उत्पीड़ित भारतीय

Read More

असम – किस प्रकार ट्राइब्यूनल द्वारा अवैध आप्रवासियों का निश्चय (आई.एम्.डी.टी.) अधिनियम ने प्रत्यर्पण बहुत कठिन बना दिया

https://www.youtube.com/watch?v=NGpMo3KfCKw?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 तो असम की संजातीय पहचान की रक्षा करने का विषय असम के भारतीय संघ में विलय होने के समय से चला आ रहा है और अतः आपके पास सबसे पहले विधिनियमों में से एक है जो कि १९४६ के विदेशी नागरिक अधिनियम के पश्चात् आया, १९५० का आप्रवासी निष्कासन विधिनियम

Read More