शनिवार, दिसम्बर 15, 2018
Home > भारतीय इतिहास का पुनर्लेखन > १८०० में भारतीय शिक्षा प्रणाली के बारें में अंग्रेजों का विवरण

१८०० में भारतीय शिक्षा प्रणाली के बारें में अंग्रेजों का विवरण

 

धरमपाल किसी काम से लन्दन गए थे और उन्हें अंग्रेजी पुस्तकालयों में कुछ समय बिताने का अवसर मिला जहाँ उन्हें अत्यंत महत्वपुर्ण पुरालेख मिले I एक पूरी श्रेणि, नाना प्रकार के सर्वेक्षणों की जिसका गठन अंग्रेजों ने १९ वी शताब्दी में किया था, भारत में स्थानीय शिक्षा प्रणाली का अंकलन करने के लिए I यह तो मानना पड़ेगा कि अँगरेज़ बहुत व्यवस्थित तरीके से काम किया करते थे I तो सबसे पहले उन्होंने जानने का प्रयास किया कि भारत में शिक्षा का स्तर क्या हैं I इसीलिए उन्होंने मद्रास प्रेसीडेंसी में, बंगाल प्रेसीडेंसी में, पंजाब में – भारत के विभिन्न भागों में सर्वेक्षण प्रारंभ किये जिसके उन्होंने दस्तावेज़ भी बनाये I

उन सर्वेक्षनो से अंग्रेजों को क्या ज्ञात हुआ ? उन्होंने पाया कि हर गाँव में एक पाठशाला हुआ करती थी, बिहार और बंगाल अकेले में १ लाख पाठशालाए थी ! आप कल्पना कर सकतें हैं, यह बात आश्चर्यजनक हैं, कि हर गाँव में एक पाठशाला हुआ करती थी I और इन पाठशालाओं में क्या पढ़ाया जाता था I कहीं पर अल्लाह के सीख, लिखना, पुरानों का पाठ, सबको महाभारत और रामायण की कथा ज्ञात थी, भगवत पूरण, गणित सीखना अनिवार्य था, साक्षरता की मात्रा बहुत अधिक थी, निरक्षरता बहुत कम थी I सब स्थानीय भाषा जानते थे, यदि वे आंध्र में रहने वाले थे तब वोह तेलुगु जानते थे, यदि वे तमिल नाडू में थे तब वे तमिल जानते थे, स्थानीय भाषाओं को महत्व दिया जाता था I अध्यापक निष्ठावान हुआ करते थे, शिक्षा के प्रचार में वरिष्ठ पद्धतियों का प्रयोग किया जाता था, और छात्रों की उपस्थिति बहत अधिक हुआ करती थी I यह सब हमे उन सर्वेक्षणों को करने वाले अधिकारीयों के माध्यम से पता चलता हैं I

एक और रोचक बात यह थी, जो रुधिओं को भंग करती थी, वोह ये कि बहुत मात्रा में शुद्र पाठशालाओं में पाए गए थे I सर्वेक्षण करने वालों ने प्रतिशत दिए हैं, उदाहरंस्वरूप कुछ पाठशालाओं में ७०% शुद्र पाए गए, कुछ पाठशालाओं में ५०% शुद्र, कुछ पाठशालाओं में अधिक मात्रा में लड़कियां पाई गयी, जैसे केरल के पाठशालाओं में I जब अंग्रेजों ने यह सर्वेक्षण किया तब तक हमारे बुनियादी स्तर पर शिक्षा यथावत थी, जबकि हमरे विश्वविद्यालयों को मुसलामानों ने ध्वस्त कर दिया था I

Leave a Reply

%d bloggers like this: