शनिवार, जनवरी 25, 2020
Home > इंजीलवाद और हिन्दुओं की रक्षा > यूरोप के आदिवासी समुदायों के विलुप्त होने में क्रिश्चन मिशनरियों का हाथ

यूरोप के आदिवासी समुदायों के विलुप्त होने में क्रिश्चन मिशनरियों का हाथ

आज वे आदिवासियों को बचाने आ रहे हैं ताकि वे उनका धर्म परिवर्तित कर सकें। ‘ब्राह्मणवादी समाज ने तुम्हारा शोषण किया है, हम तुम्हें उनसे बचाएंगे’। आपने यूरोप में कितनी जनजातियाँ छोड़ीं? कितने लोग बचे हैं जो अपनी आदिवासी परंपराओं का पालन करते हैं? एक भी नहीं। आप किसे बचाने आ रहे हैं? ऑस्ट्रेलिया में आदिवासियों को वनस्पतियों और जानवरों के बराबर घोषित कर दिया गया था, जिसका अर्थ है कि उनके अधिकार केवल उतने ही हैं जितने जानवरों के। यह उनकी आधिकारिक राज्य नीति थी, और यही लोग अब हमारे आदिवासियों को बचाने आ रहे हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: