रविवार, नवम्बर 17, 2019
Home > क्या आप जानते हैं? > यूरोप में 1500 ई. तक राष्ट्र राज्यों की अनुपस्थिति

यूरोप में 1500 ई. तक राष्ट्र राज्यों की अनुपस्थिति

यह भारत के विशाल भौगोलिक क्षेत्र पर लगभग 475 ई. के आसपास का गुप्त साम्राज्य का एक नक्शा है। अगर आप देखें तो यहाँ ‘भारत’ एक बड़े साम्राज्य के रूप में परिभाषित है,  हालांकि बीच में कुछ राज्य भी हैं। 475 ई. के यूरोप के मानचित्र को देखें। पश्चिमी यूरोप को देखें। आप अधिकांश देशों को पहचानने में असमर्थ होंगे। यहां तक ​​कि इंग्लैंड 475 ईस्वी में मौजूद नहीं है। केवल जनजातियाँ विभिन्न समूहों में रह रही हैं। 1 ई. में देखें। सातवाहनों और कलिंगों के राज्य देखे जा सकते हैं। यदि आप 1 ई के यूरोप को देखते हैं, तो यह रोमन साम्राज्य है जो आज के किसी भी यूरोपीय देश के साथ मेल नहीं खाता है। यह सच है कि भारत के राज्य समय-समय पर बदल रहे थे, लेकिन तब भी यह आज की सीमाओं के साथ मेल खाता है। लेकिन रोम के साम्राज्य का आज के यूरोपीय देशों के साथ कोई संबंध नहीं है।

कुछ समय बाद 400 ईस्वी में इनमें से कुछ राज्य उभरे। फारस को देखा जा सकता है जिसकी अलग कहानी है और यह रोमन साम्राज्य है। यह 1000 ई का मानचित्र है। यहाँ कुछ ऐसे क्षेत्र देखे जा सकते हैं जिन्हें आज के देशों से मेल किया जा सकता है लेकिन ये भी बहुत अलग हैं जैसे कि यह आज पुर्तगाल है लेकिन यह कुछ बहुत ही अलग राज्य है। ग्रीस जिसे एक प्राचीन सभ्यता कहा जाता है उसका यहाँ कोई संकेत नहीं है। इंग्लैंड भी है, लेकिन सीमित भूमि पर, यहाँ कई जनजातियां आपस में लड़ रही हैं। यहाँ जर्मनी नहीं है। वर्तमान जर्मनी पर रोमन साम्राज्य स्थित है। यदि आप स्पेन को देखें, तो कुछ इलाक़े यहाँ हैं जबकि कुछ ऊपर हैं। तो इसका मतलब है कि यह आज की स्थिति से बहुत अलग है। वे कहते हैं कि भारत एक राष्ट्र नहीं था। तब क्या आप एक राष्ट्र थे? आप राष्ट्र कब बने? आपका आधार क्या है?

यहाँ तक कि 1000 ई. में भी आप यह नहीं कह सकते कि तब आज के जैसा कुछ था। 1500 ई. में कुछ बड़ा हुआ, अब क्या अंतर है? ओटोमन साम्राज्य ने रोमन साम्राज्य का स्थान ले लिया है। इसलिए यह पूर्वी यूरोप और ग्रीस अब ओटोमन के अधीन है। यह एक मुस्लिम साम्राज्य है। यहां मिस्र को देखा जा सकता है जिस पर अलग से चर्चा की जाएगी। अगर आप जर्मनी को देखें तो वहां कई रियासतें, सरदार, राज्य, कबीले शासन कर रहे हैं। फ्रांस की सीमा भी आज से काफी अलग है, इंग्लैंड भी। यह 1500 ई. की पूरी कहानी है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: