शुक्रवार, सितम्बर 25, 2020
Home > इस्लामी आक्रमण > गुरु गोबिंद सिंह: योद्धा, संत, कवि व दार्शनिक – जिन्होंने भारत के सारे ग्रंथों का निचोड़ दिया | कपिल कपूर

गुरु गोबिंद सिंह: योद्धा, संत, कवि व दार्शनिक – जिन्होंने भारत के सारे ग्रंथों का निचोड़ दिया | कपिल कपूर

गुरु गोविन्द सिंह जी के mention के बगैर आप इंडिया की history of ideas कंप्लीट नहीं कर सकते| गुरु गोविंद सिंह जी ने भागवत पुराण को ‘भाखा दियो बनाए’, जो उन्होंने कृष्णावतार लिखा वह उन्होंने पूरे भागवत पुराण को पंजाबी में भाखा में लिखा, रामअवतार लिखा, अकाल स्तुति लिखी, जितना ज्ञान भारत का था उसका जो latest retelling हुआ…retelling… वह सारा वह गुरु गोविंद सिंह जी ने किया| 4 बेटे मरवा दिए, father मरवा दिए, 40 की आयु में मर गए,इतने ग्रंथों की रचना की, इतना social reform किया और धर्म के लिए जान दे दिया, कुर्बानी कर दी| दो बच्चे छोटे- पांच आठ साल के जिंदा दीवार में चुनवा दिए गए और जब उनको खबर मिली तो उनकी आंखों में नमी आई तो किसी ने कहा गुरु जी अगर आप दुख बनाओगे तो कैसे होगा? तो कहते, “मैं दुख नहीं मना रहा| जब पेड़ से पत्ता तोड़ते हो ना तो थोड़ी नमी आती है|” Extra – extraordinary person, a poet, a saint, a scholar, a warrior, 4-in-1 you won’t find another in the world and we are unaware. हम उन दिनों में Valentine Day मानते होते हैं, जब उनके दिल होते ना, शहादत के, बच्चों की, उन दिनों में हमारे बच्चे Valentine Day मनाते होते हैं, तो कौन responsible है सर? I don’t know. I think we people who talk of education, deal in education, and everyday decide to do something for our country, I think we are responsible.

Leave a Reply

%d bloggers like this:

Sarayu trust is now on Telegram.
#SangamTalks Updates, Videos and more.