Home > अखंड भारत

हिंदू देवी देवता जापानी संस्कृति का अभिन्न अंग है | बिनॉय बहल

अनुवादिका - आशा लता चौधरी https://www.youtube.com/watch?time_continue=153&v=Gt8HoqkFNp0?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 जापान में हमने दो सुंदर वेणुगोपाल देखे । इस पर मैंने सोचा कि आप यह जानने के उत्सुक होंगे कि हिंदू देवी देवता जिस प्रकार भारत में पूजे जाते हैं, क्या उसी प्रकार आज जापान में भी पूजे जाते हैं। वस्तुतः आपको यह जानकर आश्चर्य होगा

Read More

भारतीय महाकाव्य एशियाई महाद्वीप के अभिन्न भाग क्यों हैं? | बिनॉय बहल

अनुवादिका - आशा लता चौधरी https://www.youtube.com/watch?time_continue=12&v=gpetea4eD-Y?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 महाकाव्य भी अत्यंत महत्वपूर्ण है और उनका बहुत अधिक आदर किया जाता है । वस्तुतः रामायण पर मेरी एक फिल्म है जिसका फिल्मांकन मैंने 10 देशों में किया था, सुजाता और मेरे लिए लोगों की उस निष्ठा को देखना बहुत सुखद था, जिससे वे रामायण का

Read More

लद्दाख से बीजेपी सांसद जमयांग त्सेरिंग नामग्याल का धारा 370 को जम्मू-कश्मीर से हटाने को लेकर वक्तव्य

https://m.youtube.com/watch?feature=youtu.be&v=76PPM2aOpJs मैं डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी जैसे वीरों का, कुशोक बकुला रिंपोचे जैसे महान व्यक्तियों का, थुप्स्तान सेवांग जैसे लोग जिन्होंने लद्दाख को एक दिशा दिया कि हमें भारत के साथ रहना है, भारत का जयकार करना है, अपने देश के लिए मर मिटने को तैयार रहना है। यहां पर लोग

Read More

भारत का नाम इंडिया कैसे पड़ा?

https://youtu.be/XYaiydUErHw?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 'इंडिया' शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई? शायद यह आपको ज्ञात हो| सबसे पहले 'सिंधु' शब्द से ‘हिंदू’ बना। फिर जैसे स्पेनिश में ‘ह’ अक्षर उच्चारण में गौण हो जाता है उसी प्रकार ‘ह' का उच्चारण लुप्त होकर ‘इंदु’ बना। जब मैं बार्सिलोना में था, मैंने एक रेस्तरां का नाम 'लो

Read More

तृतीय वर्ष के समापन समारोह में मोहन भगवत जी का संबोधन

https://www.youtube.com/watch?v=Xsdg1pnM9ag   इस वर्ग को देखने, संघ को समझने अपना समय खर्चा करके, अपना वय करते  हुए, हमारे ऊपर स्नेह रखकर यहाँ उपस्थित हुए सभी माननीय अतिथि गण, उपस्तिथ नागरिक सज्जन, माता-भगिनी, मंच पर उपस्तिथ माननीय सर्वाधिकारी जी, विदर्भा प्रांत के और नागपुर महानगर के माननीय संघचालक जी एवं, आत्मीय स्वयं सेवक

Read More