Category: मध्यकालीन इतिहास

नालंदा विश्वविद्यालय के बारें में चीनी विद्यार्थियों की राय

  मैंने उस जगह की यात्रा की हैं, लेकिन उसको जानने के लिए, या फिर यह जानने के लिए की वह कैसे दिखता था, आपको हुआन सांग और आय सिंग की आत्मा कथा पढ़नी...

१८०० में भारतीय शिक्षा प्रणाली के बारें में अंग्रेजों का विवरण

  धरमपाल किसी काम से लन्दन गए थे और उन्हें अंग्रेजी पुस्तकालयों में कुछ समय बिताने का अवसर मिला जहाँ उन्हें अत्यंत महत्वपुर्ण पुरालेख मिले I एक पूरी श्रेणि, नाना प्रकार के सर्वेक्षणों की...

भारत से चीन को ज्ञान का अंतरण

  अब हम बात करेंगे भारत से चीन के ज्ञानान्तरण के बारे में I संस्कृत भाषा में लिखित कई सारे हस्तलेख चीन ले जाए गए, चीनी विद्वानों के द्वारा या फिर भारतीय विद्वानों द्वारा...

गोवा के धर्मं न्यायाधिकरण में ‘ऑटो दा फे’ और अन्य यातनाओ के तरीके

  चार्ल्स देल्लों ने धर्मं न्यायाधिकरण के महल को वर्णित करते हुए लिखा हैं, कि वह एक भयानक, भव्य, भवन था जिसमे २०० बंदीगृह हुआ करते थे, जो अंधकारमय और बिना किसि खिडकिओं के...

Mr. K. K. MUHAMMED, Ex Regional Director, ASI speaks on Ayodhya Ram Mandir

Source video : – Public 24/7 YouTube channel.   To the Program में आज हमारे मेहमान है दुनिया के जाने माने archaeologist , जनाब के. के. मोहम्मद साहब| के.के. साहब का जन्म कोज्हिकोड़े में...

भारत की तरफ का प्राचीन व्यापार मार्ग, भारत को व्यापार अधिशेष का लाभ और इसका असर रोमानी अर्थनीति पर

अब ऐसा ही हाल पश्चिम हिंदमहासागर में भी हो रहा था जब भारतीय रोमानी साम्राज्य के साथ व्यापारी सम्बन्ध बढ़ाते हैं और इस रोमन साम्राज्य की जड़ें और उस समय के बारें में हमें...

ओडिया – पूर्वी हिंदमहासागर में भारतीय नौसेना के अग्रगामी

अब कहीं न कहीं ओडिया ने महसूस किया कि, समुद्री तट के किनारे से सटकर जलयात्रा करना जटिल हैं और शायद जिसने ऐसी यात्रा कभी की हो, ने यह सुझाव रखा होगा कि दक्षिणपूर्वी...

कंबोडिया और वियतनाम के खमेर और चरमे संस्कृतियों का भारत से सम्बन्ध

तो एक कहानी हैं जो सामूहिक रूप से काम्बोसिया और वियतनाम आदि देशों के अभिलेखों में देखि जाती हैं, और इसके बहुत समय बाद अंकोर और चरमे साम्राज्य उभरे, मगर वोह कहानी कुछ इस...

मुस्लिम आक्रमणकारियों का मूर्तिभञ्जन

एस्किमोज़ ने मन्दिर को तोड़ा इसकी पुष्टि पिछली शताब्दियों में उन्होंने स्वयं अनेकदा की है , बस पिछले ही कुछ दशकों से पहले तो कुछ सेक्युलरवादी , उनके पीछे पीछे हिमवासी , कहने लगे...

अयोध्या खुदाई के पुरातात्विक निष्कर्ष और धर्मनिरपेक्षवादी इतिहासकारों ने उनसे त्याग दिया

लगभग १९५० से अयोध्या को लेकर न्यायालय में वाद चल रहा था , खींचते खींचते २००२ में जाकर अलाहाबाद उच्च न्यायलय ने विवादित स्थल के उत्खनन का आदेश दिया । ये पहला उत्खनन नहीं...

धर्मनिरपेक्ष विद्वानों की मूर्तिभंजन के इतिहास को छिपाने के तर्क और चालें

अब एक व्यक्ति हैं रिचर्ड ईटन नाम के , अमरीकन हैं , अपने आप को एक साम्यवादी बुद्धिजीवी बताते हैं और कहते हैं , हिन्दुओं ने एक बहुत बड़े स्तर पर मन्दिर तोड़े ,...

स्वराज्य से साम्राज्य तक : मराठा साम्राज्य के द्वारा ‘हिन्दवी स्वराज्य’ का एकीकरण

वर्ष : १७२० – औरंगजेब से हुये २७ वर्ष लम्बे बहुत ही कठिन युद्ध को जीते कुछ समय बीत चुका है पर शिवाजी महाराज का देश को आतंक से मुक्त कराने का लक्ष्य अभी...

औरंगजेब का अन्तिम अभियान

तो इस समय औरंगजेब ने निर्णय लिया कि मैं अन्तिम अभियान पर जाऊँगा, सभी दुर्गों को जीतूँगा और पश्चिम महाराष्ट्र में मुगल राज्य स्थापित करूँगा और परिणामस्वरूप १७०० में, ८५ वर्ष के आयु में,...

क्यों औरंगजेब मराठाओं से अधिक क्षेत्र हथियाने में असफल रहा

तो १६९० के दशक में युद्ध का ये प्रभाव था कि मराठा वास्तव में शक्तिशाली सेना बनाने में समर्थ हुये । उन्होंने छापामारी के युद्ध की मारो और भागो की वही नीतियाँ अपनायीं, ये...