Home > भारतीय इतिहास का पुनर्लेखन

भारतीय इतिहास का भारत के दृष्टिकोण से पुनर्लेखन होना चाहिए — अमित शाह

Source: - @AmitShah / Twitter. https://twitter.com/amitshah/status/1184809893041041409?s=12 इस सभागार में इतिहास के कई विद्वान् बैठे हैं| बालमुकुन्द जी भी यहाँ बैठे हैं जो इतिहास संकलन के लिए प्रयास कर रहे हैं| मेरा सब से आग्रह है की भारतीय इतिहास का भारतीय दृष्टि से पुनर्लेखन बहुत जरूरी है| मगर इसमें हमें किसी को दोष

Read More

जिहाद और मुस्लिम धर्मविधान पर डॉक्टर बी.आर. अम्बेडकर के विचार

https://youtu.be/q6Ne9WtypyQ?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 एक मुस्लिम की अपनी मातृभूमि [भारत] के प्रति निष्ठा पर, अंबेडकर लिखते हैं: "नोटिस के लिए बुलाने वाले सिद्धांतों में इस्लाम का सिद्धांत है, जो कहता है कि ऐसे देश में जो मुस्लिम शासन के अधीन नहीं है, जहां भी मुस्लिम कानून और भूमि के कानून के बीच संघर्ष होता

Read More

अंबेडकर की इस्लामिक समझ

https://www.youtube.com/watch?v=PBoVNta9oSo?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 हालाँकि, हम यह नहीं जानते किवे दुनिया के अन्य महान धर्मों जैसे इस्लाम के बारे में क्या सोचते थे। क्योंकि अम्बेडकर का यह पहलू हमारे सामान्य प्रवचन और पाठ्य पुस्तकों से छिपा हुआ है, इसलिए यह सर्वाधिकआश्चर्य की बात हो सकती है कि अम्बेडकर ने इस्लाम के बारे में अक्सर

Read More

गुरु तेग बहादुर का धर्मार्थ प्राण त्यागने से पहले औरंगजेब के साथ संवाद

https://www.youtube.com/watch?v=DBFIiqysBIY?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 गुरुदेव बोले, "300 वर्ष पहले हमारे देश में औरंगजेब नाम का निर्दयी राजा था। उसने अपने भाई को मारा, पिता को बंदी बनाया और स्वयं राजा बन गया। उसके उपरांत उसने निश्चय किया कि वो भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाएगा।" "क्यों गुरुदेव?" "क्योंकि उसने सोचा कि यदि दूसरे देशों को इस्लामिक राष्ट्र

Read More

एक कश्मीरी शरणार्थी शिविर का नाम ‘औरंगज़ेब का स्वप्न’ क्यों रखा गया? – मनोवैज्ञानिक आघात का ऐतिहासिक संदर्भ पढ़ें

https://www.youtube.com/watch?v=6a5moK26JAw&t=1s?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 मैं एक कहानी आपसे साझा करूंगा, क्योंकि मुझे लगता है कि कहानी लोगों को यह बताने का सबसे अच्छा तरीका है कि मैं इस तक कैसे पहुंचा। किसी को पता है कि यह क्या है? यह कश्मीरी शरणार्थी शिविर है। मैं वहां काम कर रहा था, और मेरी पत्नी भी

Read More

इसाई पंथ और भारत – डॉ. सुरेन्द्र कुमार जैन का व्याख्यान

संपूर्ण विश्व में प्रेम व शान्ति का स्वरुप माने जाने वाले इसाई धर्म के विस्तार का इतिहास रक्त से सना है, ये तथ्य कम ही लोग जानते हैं| यूनान, रोम व माया जैसी कई प्राचीन संस्कृतियाँ इसाई मिशनरियों के हाथों जड़ से मिटा दी गयीं| अनगिनत देशों की भोली-भाली प्रजा

Read More

वैदिक काल में जनपदों का भूगोल

https://youtu.be/X84seX-D-CE?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 भारतीयों में एक सामान्य भ्रांति है कि जनपद (प्राचीन भारत में राज्य या प्रशासनिक इकाई) केवल बुद्ध काल में हुआ करते थे वैदिक काल में नहीं। इसका तर्क यह दिया जाता है कि वेदों में जनपदों  का कोई वर्णन नहीं मिलता है। श्री मृगेंद्र विनोद इस भ्रांति का सिरे से

Read More

अठारहवीं शताब्दी के समय प्रचलित भारतीय शिक्षा प्रणाली पर प्रस्तुत ब्रिटिश रिपोर्ट

https://www.youtube.com/watch?v=obVouUw1KIs?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   अपने लंदन प्रवास के दौरान धर्मपाल को कुछ अत्यंत महत्वपूर्ण पुरालेख सामग्री को देखने का अवसर मिला - ब्रिटिश सरकार के द्वारा भारत की स्वदेशी शिक्षा प्रणाली पर किये गए सर्वेक्षणों की श्रृंखला पर लिखी गयी रिपोर्ट्स। ये सर्वेक्षण भारत के विभिन्न प्रान्तों में अति गम्भीरता से करवाये गए थे

Read More

ब्रिटिश आक्रमणकारियों ने भारत को कैसे लूट लिया – विल ड्यूरेंट का ‘द केस फॉर इंडिया’

https://www.youtube.com/watch?v=d9xHoMorfzs?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   हम यह जानना चाहते हैं कि भारत में गरीबी का क्या कारण है? मैं 2 कार्यों को इंगित करना चाहूंगा, यह एंगस मैडिसन है जो नीदरलैंड्स में एक ऐतिहासिक अर्थशास्त्री है। उन्होंने वर्तमान युग के मोड़ से दुनिया की अर्थव्यवस्थाओं का अध्ययन किया 2003 तक एक तरह से, वह दिखाता

Read More

कीलडी और अरिकमेडू खुदाई से संकेत मिलता है कि दक्षिण भारतीय सभ्यता ५०० ईसा पूर्व से भी पुराना है

https://www.youtube.com/watch?v=I9B7Vfq16W4?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   हाल ही में हमें कीलडीकी कहानी के बारे में बताया गया है। कीलडीके पीछे एक रोमांचक कहानी मिली है। पुरातत्वविदों को मदुरै में खुदाई करना था हालांकि, मदुरै अन्य भारतीय शहरों की तरह ही है; बसे हुए, बहुत महंगा जमीन, पुरातत्व और इन जैसे चीज़ोंके लिए भूमि प्राप्त करने के

Read More

गुमराह करने वाले इतिहासकार

Courtesy: - K K Muhammad (Ex-Regional Director, ASI). अयोध्या के स्वामित्व के संबंध में 1990 में राष्ट्रीय स्तर पर बहस ने जोर पकड़ा। इसके पहले 1976- 77 में पुरातात्विक अध्ययन के दौरान अयोध्या उत्खनन में भाग लेने का मुझे अवसर मिला। प्रो बीबी लाल के नेतृत्व में अयोध्या उत्खनन की टीम में

Read More

हिन्दू धर्म और राष्ट्रीयता – शंकर शरण द्वारा एक व्याख्यान

https://www.youtube.com/watch?v=48EdyW4E9i0&t=267s   समय बदल गया है, समय की मांग बदल गयी है,और जो नयी पीढ़ी आती है वह स्वयं सबकुछ तय नहीं करती; बहुत सी चीजे उसको बनी-बनायीं मिलती है | यह जो कैरियर ओरिएंटेडनेस का आज कासमय है, उसमेपढ़ना-लिखनाएक तरह से कम हो गया है|सबकुछ रेडीमेड, जल्दी, गूगल से मिल जाये,

Read More

आपणास माहीत होतं का – केरळच्या मार्तंड वर्मा ने डचांना हरवलेलं होतं – त्या वेळचे सर्वात शक्तिशाली नौदल

विलक्षण संजीव संन्याल प्रेक्षकांना संगत आहेत, भारतीय इतिहासातील अतिशय महत्त्वाचा अध्याय, मार्तंड वर्मा आणि कोलाचेलची लढाई. https://www.youtube.com/watch?v=a7vkREW_zqw आणि अर्थातच, ज़र तुम्ही केरळचे नसाल तर, कदाचित तुम्ही मार्तंड वर्मा बद्दल ऐकलेले नसेल। मार्तंड वर्मा एक अत्यंत विलक्षण पात्र आहेत। ते त्रावणकोर नावाच्या एका छोट्याशा राज्याचे शासक होते. ते जेंव्हा सत्तेवर आले तेव्हा ते राज्य

Read More

भारतीय इतिहास खरोखर सत्य आहे का ?

https://www.youtube.com/watch?v=78jB3PrvUhg हा विषय माझ्या मनात तेव्हां जन्मास आला ज्या वेळी मी लोकांकडून विशेषत: शिकलेल्या लोकांकडून हे ऐकलं कि, भारतीय लोक अजिबात ऐतिहासिक नाहित। असं का आहे की आपण भारतीय, जगातील सर्वात अद्वितीय लोकं आहोत? कारण – आपण आपल्या इतिहासाबद्दल अजिबात विचार करत नाहित. खरोखरच आपल्याला जगातील सर्वात जुनी आणि सतत चालत आलेली

Read More

क्या आप जानते हैं : केरल के मार्तंड वर्मा ने डच को हराया था – उस समय की सबसे शक्तिशाली नौसेना!

https://www.youtube.com/watch?v=a7vkREW_zqw और बेशक, यदि आप केरल से नहीं है, तो आपने शायद मार्तंड वर्मा के बारे में नहीं सुना होगा। मार्तंड वर्मा एक बहुत ही दिलचस्प चरित्र है। वे एक बहुत छोटे राज्य कहे जानेवाले त्रावणकोर के शासक थे. जब वह सत्ता में आए थे, अनिवार्य रूप से वह एक छोटी सी

Read More

भारतीय इतिहास क्या वास्तव में सत्य है ?

https://www.youtube.com/watch?v=78jB3PrvUhg इस विषय का जन्म तब हुआ जब मैं अक्सर लोगों से, विशेषत: पढ़े लिखे लोगों से यह सुनता हूँ  कि, भारतीय किसी भी तरह से इतिहासिक लोग नहीं हैं। ऐसा क्यों है की, हम दुनिया के अद्वितीय लोगों में से हैं,  क्यों कि, – हम  हमारे अतीत के बारे में बिलकुल

Read More