Home > क्या आप जानते हैं?

पुर्तुगाली उपनिवेशवादियों द्वारा हिन्दुओं को इसाई धर्म में परिवर्तित करने के लिए अपनाई गयी नीतियाँ

https://www.youtube.com/watch?v=D8mrMoxzDKw?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   पुर्तुगाली उपनिवेशवादियों की दो प्रकार की नीतियां थी I एक नीति थी, कि हिन्दुओं का जीवन इतना संकटमय बना दो कि हिन्दू बने रहना बहुत बड़ा बोझ बन जाये, और यदि इसाई धर्म को अपनाया तब उनको हर प्रकार का प्रलोभन मिलता था जैसे, आर्थिक प्रलोभन, सामजिक प्रलोभन, इत्यादि I

Read More

पाइथागोरस और भारतीय ज्ञान के साथ उनका संबंध

https://www.youtube.com/watch?v=OfsYksCadmY?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   पाइथागोरस जो इस समय के फ्रेम में रहते थे, ये सज्जन, जो सभी पश्चिमी, अल्बर्ट बुर्की और ए एन। मार्लो और जी आर एस मीड हैं, उनमें से प्रत्येक का कहना है कि पायथागोरस भारत गए जहां उन्होंने अपने दर्शन, ज्ञान और अन्य चीजें सीखा। ये इंडिक लोगों को यह

Read More

ब्रिटिश आक्रमणकारियों ने भारत को कैसे लूट लिया – विल ड्यूरेंट का ‘द केस फॉर इंडिया’

https://www.youtube.com/watch?v=d9xHoMorfzs?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   हम यह जानना चाहते हैं कि भारत में गरीबी का क्या कारण है? मैं 2 कार्यों को इंगित करना चाहूंगा, यह एंगस मैडिसन है जो नीदरलैंड्स में एक ऐतिहासिक अर्थशास्त्री है। उन्होंने वर्तमान युग के मोड़ से दुनिया की अर्थव्यवस्थाओं का अध्ययन किया 2003 तक एक तरह से, वह दिखाता

Read More

कीलडी और अरिकमेडू खुदाई से संकेत मिलता है कि दक्षिण भारतीय सभ्यता ५०० ईसा पूर्व से भी पुराना है

https://www.youtube.com/watch?v=I9B7Vfq16W4?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   हाल ही में हमें कीलडीकी कहानी के बारे में बताया गया है। कीलडीके पीछे एक रोमांचक कहानी मिली है। पुरातत्वविदों को मदुरै में खुदाई करना था हालांकि, मदुरै अन्य भारतीय शहरों की तरह ही है; बसे हुए, बहुत महंगा जमीन, पुरातत्व और इन जैसे चीज़ोंके लिए भूमि प्राप्त करने के

Read More

हिन्दू अनुदान समिति का धन सरकारों द्वारा प्रयोग किया जा रहा है जो कि संविधान के अनुच्छेद २७ का उल्लंघन है

हिन्दुओं के मंदिरों से लिया गया पैसा दो चीजों में लगाया गया है, ईसाईयों की जेरूसलम यात्रा और मुसलमानों की हज यात्रा। यह हिन्दुओं के पैसे से हो रहा है। यदि मैं ईसाई या मुसलमान होता तो मैं यह कहता, मैं आहत होता कि हमारे पास क्या पैसा नहीं है?

Read More

रजस्वला परिचर्या – आयुर्वेद के अनुसार ऋतुस्राव के समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं

आयुर्वेद कई नुस्खे देता हैं कि ऋतुस्राव के समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं जिसे रजस्वला परिचर्या I परिचर्या अर्थात् जीवन शैली I रजस्वला स्त्री को उन तीन दिनों में किस प्रकार की जीवन शैली अपनानी चाहिए ? चरका संहिता इसका सार देती हैं और कहती हैं कि, ऋतुस्राव के

Read More

त्रिदोष की धारणा – आयुर्वेदिक औचित्य और तत्व ऋतुस्राव की पद्धति में

वस्तुतः जो ऋतुस्राव की क्रिया का अनुभव करतें हैं वोह शायद भूल गएँ हैं कि ऋतुस्राव की क्रिया में एक आयुर्वेदिक औचित्य, आयुर्वेदिक तत्व भी हैं जिसके बारें में वेदों, धर्मशास्त्रों में बताया गया हैं I आयुर्वेद ऋतुस्राव को एक दैहिक प्रक्रिया मानता हैं जो त्रिदोषों के अधीन हैं I

Read More

जन्म का महात्म्य और हिन्दू धर्मं में गर्भपात को ब्रह्म्हाया क्यों माना गया हैं ?

https://www.youtube.com/watch?v=dO434gqkEt0?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 जन्म इतना महतवपूर्ण क्यों हैं? हमारे हिन्दू सम्प्रदाय में जन्म देना एक पवित्र बात मानी गयी हैं, बहुत बड़े पुण्य की बात, एक धार्मिक क्रिया जिसका पुण्य बहुत महान हैं, क्यों ? क्योकि जन्म देना सिर्फ बच्चे पैदा करना नहीं हैं, जो आजकल की भाषा में माना गया हैं I

Read More

भारत की तरफ का प्राचीन व्यापार मार्ग, भारत को व्यापार अधिशेष का लाभ और इसका असर रोमानी अर्थनीति पर

https://www.youtube.com/watch?v=RJtIDrHTYHU?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 अब ऐसा ही हाल पश्चिम हिंदमहासागर में भी हो रहा था जब भारतीय रोमानी साम्राज्य के साथ व्यापारी सम्बन्ध बढ़ाते हैं और इस रोमन साम्राज्य की जड़ें और उस समय के बारें में हमें पता चलता हैं एक नियमावली से जिसका नाम हैं “डी पेरिप्लुस ऑफ़ डी एर्य्थ्रेअन सी” और

Read More

अयोध्या खुदाई के पुरातात्विक निष्कर्ष और धर्मनिरपेक्षवादी इतिहासकारों ने उनसे त्याग दिया

https://www.youtube.com/watch?v=Zn0_RCv8uYw?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 लगभग १९५० से अयोध्या को लेकर न्यायालय में वाद चल रहा था , खींचते खींचते २००२ में जाकर अलाहाबाद उच्च न्यायलय ने विवादित स्थल के उत्खनन का आदेश दिया । ये पहला उत्खनन नहीं था , इससे पहला उत्खनन बहुत लघु था । १९७० के दशक में बृज बिहारी लाल

Read More

अयोध्या विवाद में धर्मनिरपेक्ष इतिहासकारों के हिंदूविरोधी राय

https://www.youtube.com/watch?v=wmqW5pNQk0E?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 १९८० तक भी, उस स्थल पर क्या हुआ इस विषय को लेकर बड़ी सहमति थी । हिमवासी , यूरोपीय यात्री , यूरोपीय उपनिवेशी और हिन्दू भी यही मानते थे कि मस्जिद ने बलपूर्वक एक हिन्दू मन्दिर हटाया है । १८८० में न्यायालय में इसपर एक ब्रिटिश न्यायाधीश ने अन्तिम निर्णय

Read More

ओडिया और श्री लंका

  https://www.youtube.com/watch?v=mrWhpsQfSW8?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 इसी दौरान पूर्वी दिशा की ओर, जो क्षेत्र आज कल बंगाल और उड़ीसा कहलायें जातें हैं, सामुद्रिक गति-विधियों में अचानक वृद्धि देखने को मिलती हैं I गंगा के सुदूर पश्चिमी क्षेत्र से लेकर, आज कल जिसे हम हूगली कहतें हैं, चिलिका झील तक के समुद्री किनारे पर सामुद्रिक गति विधियों

Read More

हरप्पा का विनाश और दक्षिण भारत का विकास

https://www.youtube.com/watch?v=0dcrsU5v_Kk?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 २००० बी सी के करीब विश्व में एक बहुत बड़ा मौसमी परिवर्तन हुआ जिसके सबूत न सिर्फ पराग के सैंपल या अन्य वैज्ञानिक प्रमाणों में पाए गएँ हैं बल्की मेसोपोटामिया के अभिलेख में भी एक भयंकर अकाल का उल्लेख होता हैं I इसी समय सरस्वती नदी जो लगभग अब तक

Read More

क्यों रोहिंग्याओं का विषय न्यायव्यवस्था का विशेषाधिकार नहीं है

https://www.youtube.com/watch?v=dRYbDpoZOB4?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 यदि आप एक लोकतन्त्र हैं, मैं आशा करता हूँ विधि का राज्य आवश्यक सहगामियों में से एक है जो कि लोकतन्त्र के साथ आता है, जो कि लोकतन्त्र और लोकतांत्रिक मूल्यों के साथ संगत है और संवैधानिक मूल्यों के साथ भी । अतः मुझे एक न्यायालय के सामने स्वयं से

Read More

रोहिंग्याओं का मूल और क्यूँ वे संजातीय अल्पसंख्यक नहीं हैं

https://www.youtube.com/watch?v=9Dn0-n50xmE?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 अब, बात ये है कि आज की तारीख में, अवैध आप्रवास की अंगभूत दो समस्याएँ हैं, जिनपर मैं कहना चाहता हूँ | स्पष्टतः, तात्कालिक उत्तेजना तो रोहिंग्या के विषय पर है परन्तु कुछ चीज है जो एक बहुत लम्बे समय से सुलग रही है और पक रही है, कम से

Read More

औरंगजेब का अन्तिम अभियान

https://www.youtube.com/watch?v=otbQzK3VSnQ?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 तो इस समय औरंगजेब ने निर्णय लिया कि मैं अन्तिम अभियान पर जाऊँगा, सभी दुर्गों को जीतूँगा और पश्चिम महाराष्ट्र में मुगल राज्य स्थापित करूँगा और परिणामस्वरूप १७०० में, ८५ वर्ष के आयु में, औरंगजेब अपने जीवन के अन्तिम अभियान पर निकला, ये मुगलों के लिये एक सरल अभियान होना

Read More

मराठा सेनानायक सन्ताजी घोरपड़े का औरंगजेब की छावनी पर आक्रमण

https://www.youtube.com/watch?v=jn7-0z71aXg?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 इसके अलावा एक बहुत ही साहसी छापा संताजी घोरपड़े ने औरंगजेब के निजी तम्बू पर मारा । इस समय औरंगजेब का तम्बू कोरेगांव में था, जो कि पुणे के समीप है और वे योजना बना रहे थे यहाँ से चाकन के दुर्ग को जीतने की । उसकी समूची छावनी यहीं

Read More

शिवाजी के दक्षिण भारत के अभियान पर जाने का कारण

https://www.youtube.com/watch?v=nnY-pRlpL5U?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 और ये करने के पश्चात्, राज्याभिषिक्त होने के पश्चात्, छत्रपति शिवाजी दक्षिण भारत के अभियान पर गये और एक ऐसे साम्राज्य का निर्माण किया जो कि जिञ्जी तक विस्तृत था, आप देख सकते हैं कि ये है छत्रपति शिवाजी द्वारा निर्मित मूल राज्य । ये स्वराज्य है, कारवार से नासिक

Read More

आपणास माहीत होतं का – केरळच्या मार्तंड वर्मा ने डचांना हरवलेलं होतं – त्या वेळचे सर्वात शक्तिशाली नौदल

विलक्षण संजीव संन्याल प्रेक्षकांना संगत आहेत, भारतीय इतिहासातील अतिशय महत्त्वाचा अध्याय, मार्तंड वर्मा आणि कोलाचेलची लढाई. https://www.youtube.com/watch?v=a7vkREW_zqw आणि अर्थातच, ज़र तुम्ही केरळचे नसाल तर, कदाचित तुम्ही मार्तंड वर्मा बद्दल ऐकलेले नसेल। मार्तंड वर्मा एक अत्यंत विलक्षण पात्र आहेत। ते त्रावणकोर नावाच्या एका छोट्याशा राज्याचे शासक होते. ते जेंव्हा सत्तेवर आले तेव्हा ते राज्य

Read More

क्या आप जानते हैं : केरल के मार्तंड वर्मा ने डच को हराया था – उस समय की सबसे शक्तिशाली नौसेना!

https://www.youtube.com/watch?v=a7vkREW_zqw और बेशक, यदि आप केरल से नहीं है, तो आपने शायद मार्तंड वर्मा के बारे में नहीं सुना होगा। मार्तंड वर्मा एक बहुत ही दिलचस्प चरित्र है। वे एक बहुत छोटे राज्य कहे जानेवाले त्रावणकोर के शासक थे. जब वह सत्ता में आए थे, अनिवार्य रूप से वह एक छोटी सी

Read More