Home > चर्चांश

पुरातात्त्विक साक्ष्य हमें राम जन्मभूमि – बाबरी मस्जिद के बारे में क्या जानकारी प्रदान करते हैं?

सृजन संस्था ने अयोध्या राम मंदिर विवाद पर विचार विमर्श की एक श्रृंखला शुरू करने के उद्देश्य से डॉ मीनाक्षी जैन के साथ नई दिल्ली स्थित इनटेक परिसर में एक संगोष्ठी का आयोजन किया। इस अवसर पर श्रोताओं को सम्मानित वक्ता डॉ मीनाक्षी जैन के विचार सुनने का अवसर मिला। डॉ

Read More

इस्लाम व ईसाई धर्म की तुलना में सनातन धर्म में निहित एकेश्वरवाद की विचारधारा श्रेष्ठतर क्यों?

क्यों सनातन धर्म श्रेष्ठ है और अन्य कम, इसका कारण है की वे सब केवल एक कथानक पर किये जाने वाले अंधविश्वास पर आधारित हैं। उनकी कोई प्रमाणिकता नहीं है। साथ ही उनके बहुत सारे हानिकारक दुष्प्रभाव भी हैं। मुझे नहीं लगता क्रूर उपनिवेशवाद संभव होता अगर यह भावना नहीं

Read More

घर वापसी में रामानंद जी का योगदान

https://www.youtube.com/watch?v=KObhh12mrY0?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 जो लोग रामानंद को काटते हैं, जो लोग रामानंद से कबीर को अलग कर देते हैं, उनका पूरा agenda  ही इसी line पर चलता हैं के, वे आपको ...आपके सामने कुछ ऐसा तर्क नहीं देंगे ऊल -जलूल type की बातें करेंगे I लेकिन रामानंद जी का योगदान बहुत ज़्यादा हैं

Read More

रामानन्दाचार्य के १२ प्रमुख शिष्य

https://www.youtube.com/watch?v=V3A_IRrECkg?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 स्वामी रामानन्द जगह-जगह से तीर्थ करके जब वापस लौटे, तब उन्होंने यह निर्णय लिया कि इस भयावह समस्या से निपटने  लिए, दूसरे स्तर पर युद्ध करना होगा I सांस्कृतिक युद्द, धार्मिक युद्द I उन्होंने अपने जो गुरु भाई थे, उनसे अलग हटकरके एक नया पन्थ शुरू किया I पंथ मूलतः वह

Read More

शंकराचार्य के बारे में जानना आवश्यक क्यों है ?

https://www.youtube.com/watch?v=rBySaPAfiJg&t=39s?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 भगवान् शंकराचार्य को जानना अवतार परंपरा को जानना है, सनातन धर्म की I भगवान् शंकराचार्य को जानना , unity in diversity को जानना है I  भगवान् शंकराचार्य को जानना national integration को जानना है, भगवान् शंकराचार्य को जानना social reform को जानना है, समाज सुधार को जानना है I भगवान्

Read More

हिन्दू राष्ट्र कहलाने से क्या भारत धर्मशासित राष्ट्र बन जायेगा ?

https://www.youtube.com/watch?v=3VxiAtawEPQ&t=1s?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 हमे कैसा संविधान बनाना चाहिए इसका उत्तर स्पष्ट है I जो हमारे धर्म, हमारी संस्कृति, हमारे देश, हमारे समाज की रक्षा करे I यह हिन्दू धर्म, इसके शास्त्र महान हैं, इसका ज्ञान महान हैं I आज भी उपयोगी है I लेकिन आप demographic change को देख करके आसानी से समझ

Read More

हिन्दू मुस्लिम रिश्तों पर श्री औरोबिन्दो के विचार

https://www.youtube.com/watch?v=Qsl6nqwFmoI?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 लेकिन सबसे संक्षेप में और सबसे सटीक रूप से श्री औरोबिन्दो ने इस बात को रखा था I और एक जगह नहीं, बार बार I जब वह political leader थे और अखबार का सम्पादन करते थे, उस समय का उनका एक आर्टिकल मुझे मिला १९०९ का "Swaraj And Musalmaans "

Read More

धर्मावलोकन में हमसे कहाँ त्रुटि हो गयी?

https://www.youtube.com/watch?v=XrmE92YzhII?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 कहाँ हम भटक गए? कहाँ  हुई? इसके  है, लेकिन  , वह यह कि हमने स्वयं अपने धर्म को छोड़ दिया I हमे अपने धर्म पर चलना छोड़ दिया, धर्म की चिंता छोड़ दी I धर्म के बारे में एक सचेत समझ छोड़ दी, और हम गलत विचारों, गलत मुहावरों, गलत

Read More

धर्मान्तरण के विषय विवेकानंद के वास्तविक विचारों का सुचिंतित रूप से स्तंभन

https://www.youtube.com/watch?v=aFzCcbKkbtY?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 विवेकानद ने कहा था कि , अगर हिन्दुओं से एक बदल कर ईसाई या मुस्लिम होता हैं, तो न केवल कि एक हिन्दू घटता हैं, बल्कि हिन्दुओं का एक शत्रु बढ़ता है I अब इस एक पंक्ति को ही लीजिये तो पूरी philosophy उसमे I पूरा कर्त्तव्य उसमे दिखता हैं

Read More

भारतीय संविधान में असम्प्रदायिकता शब्द का प्रभावशाली समावेश

https://www.youtube.com/watch?v=gZrTxG7QRZQ?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 बहुत लोग इस बात पर ध्यान नहीं देते कि, जो चरित्र स्वतंत्रता के बाद भारतीय राजनितिक तंत्र का बना, जिस तरह से वह theoretically और practically anti-Hindu होता गया अपने मिज़ाज़ में, अपने orientation में I अगर यह बात, कुछ विद्वान कहते हैं कि, सारे princely states को यह बात

Read More

असली अल्पसंख्यक कौन है?

https://www.youtube.com/watch?v=MPjTtF4gp7Y?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 सारे लोग मुस्लिम हो जाये, सारे लोग ईसाई हो जाये तो प्रॉब्लम क्या हैं? इसका सच पूछिए तो कोई सही जवाब देना बड़ा कठिन हैं, खास करके सचेत हिन्दुओं के लिए I फिर भी जब प्रशन हैं तो उसका उत्तर दिया ही जाना चाहिए I और वह उत्तर यह हैं

Read More

अतिसंवेदनशील हिन्दुओं और धर्मांतरण

https://www.youtube.com/watch?v=WLTsE2Hzdhs?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 प्रशन  उठता हैं जैसा उन्होंने चीफ जस्टिस की चर्चा की, कि अगर भारत संविधान से चल रहा हैं तो कन्वर्शन का अधिकार हमे दिया हुआ है I हमारे संविधान ने I और इस संविधान में धर्म प्रचार का अधिकार दिया गया था, जिसको बाद में जब नेहरू जी से पुछा

Read More

आदी शंकराचार्य की परंपरा के कालक्रम को अंग्रेजों ने क्यों विकृत किया ?

https://www.youtube.com/watch?v=PgAT8WTSsaU?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   अंग्रेजों को मालूम था, कि जब-जब इतिहास की समीक्षा होगी तब-तब हमको Villan के रूप में देखा जायेगा I क्योकि हमने यहाँ पे इतने लूट-पाट कर लिए हैं, ऐसे-ऐसे नरसंहार किये हैं यहाँ पे, कि जब-जब इतिहास की समीक्षा होगी तब-तब हमको खलनायक के रूप में प्रस्तुत किया जायेगा I

Read More

भगवान् शंकराचार्य द्वारा स्थापित चार मठ

https://www.youtube.com/watch?v=x2ko_RDhLFc?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   भगवान् शंकराचार्य जानते थे, कि उनके जाने के बाद भी, भारत के ऊपर शस्त्र युद्द, वैचारिक युद्द और सांस्कृतिक युद्द थोपे जायेंगे I जानते थे वोह इस बात को, इसीलिए, भगवान शंकराचार्य ने चार वेदों की रक्षा के लिए, भारत की चार दिशाओं में, चार आम्नाय मठो की स्थापना करी,

Read More

भगवान् शंकराचार्य का अवतरण काल

https://www.youtube.com/watch?v=PgAT8WTSsaU?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   पूरे facts और evidences के आधार पे हमारे पास तथ्य, प्रमाण, साक्ष और आंकड़े हैं जो यह बतातें हैं कि भगवन शंकराचार्य का अवतरण इसवी सन से ५०७ वर्ष पूर्व सिद्ध होता हैं I अब मैं आपको वोह timeline निकालके इसमें बताना चाहता हूँ, मैं आपको बता देता हूँ I भगवान्

Read More

भगवान् शंकराचार्य की उपलब्धियां

https://www.youtube.com/watch?v=T-pBRf9GU1g?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 छोटी सी आयु थी उनकी, जब घर छोड़ा था आठ वर्ष के थे वो I संन्यास के लिए निकले जब I नौ वर्ष की आयु में उन्होंने संन्यास लिया और उसके बाद में, भगवान् शंकराचार्य ने, वोह काम करके दिखाया, जो आज सोचा भी नहीं जा सकता हैं I भगवान्

Read More

नालंदा विश्वविद्यालय के बारें में चीनी विद्यार्थियों की राय

https://www.youtube.com/watch?v=x_DdHPQqPpY?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   मैंने उस जगह की यात्रा की हैं, लेकिन उसको जानने के लिए, या फिर यह जानने के लिए की वह कैसे दिखता था, आपको हुआन सांग और आय सिंग की आत्मा कथा पढ़नी होगी, तो हुआन सांग लिखते हैं कि वह सबसे सुन्दर परिसर था I उसके चारों और बहुत

Read More

१८०० में भारतीय शिक्षा प्रणाली के बारें में अंग्रेजों का विवरण

https://www.youtube.com/watch?v=obVouUw1KIs?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   धरमपाल किसी काम से लन्दन गए थे और उन्हें अंग्रेजी पुस्तकालयों में कुछ समय बिताने का अवसर मिला जहाँ उन्हें अत्यंत महत्वपुर्ण पुरालेख मिले I एक पूरी श्रेणि, नाना प्रकार के सर्वेक्षणों की जिसका गठन अंग्रेजों ने १९ वी शताब्दी में किया था, भारत में स्थानीय शिक्षा प्रणाली का अंकलन

Read More

अंग्रेजों ने भारत में अंग्रेज़ी भाषा को क्यों अधिरोपित किया

https://www.youtube.com/watch?v=FbcKs9dDxB8?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   अंग्रजों ने अंग्रेज़ी भाषा को भारत पर क्यों लादा ? पहला कारन था सुविधा; अँगरेज़ सारे भारतीय भाषाओँ को नहीं सीख् सकते थे, और नाही उन्हें भारतीय भाषाएँ समझ में आती थी I उनके लिए यह बहुत सुविधाजनक बन गया कि उन्हें अंग्रेज़ी बोलने वाले नौकर चाकर मिल गए, अंग्रेजी

Read More

भारत से चीन को ज्ञान का अंतरण

https://www.youtube.com/watch?v=8OCO41T_lHM?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   अब हम बात करेंगे भारत से चीन के ज्ञानान्तरण के बारे में I संस्कृत भाषा में लिखित कई सारे हस्तलेख चीन ले जाए गए, चीनी विद्वानों के द्वारा या फिर भारतीय विद्वानों द्वारा जिन्हें चीनी राजाओं ने इस कार्य के लिए नियुक्त किया था I कुछ समय पहले हमने बत

Read More

प्राचीन भारत में तर्क की कला

https://www.youtube.com/watch?v=tHu6EM_fu98?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   अब हम बात करतें हैं तर्क कि, जो भारतीय शिक्षा प्रणाली का अभिन्न अंग हुआ करता था I आप इस चित्र को देख सकतें हैं आदि शंकराचार्य की जो तर्क कर रहें हैं मंदाना मिश्र के साथ, और इस तर्क का पंच कौन हैं ? उभय भारती जो एक जानी-मानी

Read More

गोवा के धर्मं न्यायाधिकरण में ‘ऑटो दा फे’ और अन्य यातनाओ के तरीके

https://www.youtube.com/watch?v=A0Kj89dL38g?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   चार्ल्स देल्लों ने धर्मं न्यायाधिकरण के महल को वर्णित करते हुए लिखा हैं, कि वह एक भयानक, भव्य, भवन था जिसमे २०० बंदीगृह हुआ करते थे, जो अंधकारमय और बिना किसि खिडकिओं के हुआ करता था I देल्लों के अनुसार उन दो जिज्ञासुओं के रहने के शिविर और उनका चैपल

Read More

गोवा में धर्म न्यायाधिकरण – उसका आकार, उद्देश्य और कार्य पद्धति

https://www.youtube.com/watch?v=d2iYryABHbA?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   गोवा में धर्म न्यायाधिकरण का गठन कैसे हुआ ? इस न्यायालाल के दो जिज्ञासु थे जो केवल पुर्तुगल के सम्राट को उत्तरदायी थे I उनकी नियुक्ति पुर्तुगल के सम्राट ही किया करते थे I वे गोवा के मुख्य पादरी को भी उत्तरदायी नहीं हुआ करते थे I वे गोवा के

Read More

पुर्तुगाली शाषण काल में हिन्दुओं के साथ हुए धार्मिक अत्याचार

https://www.youtube.com/watch?v=xPxUV5lEtxw?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   फिर १६२० में, वाइसराय ने आदेशपत्र निकाला कि कोई भी हिन्दू पुर्तुगाली क्षत्र में ववाह नहीं कर सकतें I हिन्दुओं को जबरन नदी कि उस पार आदिल शाह के क्षेत्र में जाना पड़ता था विवाह हेतु I वे अपने बंधू-बांधवों का मृतसंस्कार भी नहीं कर सकतें थे I उन्हें नदी

Read More

पुर्तुगाली उपनिवेशवादियों द्वारा हिन्दुओं को इसाई धर्म में परिवर्तित करने के लिए अपनाई गयी नीतियाँ

https://www.youtube.com/watch?v=D8mrMoxzDKw?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   पुर्तुगाली उपनिवेशवादियों की दो प्रकार की नीतियां थी I एक नीति थी, कि हिन्दुओं का जीवन इतना संकटमय बना दो कि हिन्दू बने रहना बहुत बड़ा बोझ बन जाये, और यदि इसाई धर्म को अपनाया तब उनको हर प्रकार का प्रलोभन मिलता था जैसे, आर्थिक प्रलोभन, सामजिक प्रलोभन, इत्यादि I

Read More

प्राचीन अतीत में यूनानियों ने भारतीय गणित के ज्ञान को उधार लिया था

https://www.youtube.com/watch?v=es5mva8sfnI?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   मैं हिप्पर्खस और त्रिकोणमिति के बारे में बात करना चाहूंगा इससे पहले कि सूर्य सिद्धांत में तार सारणियां हैं आर्यभट्ट बना है, यहां पर केवल एक 'टी' होना चाहिए, मैं माफ़ी माँगता हूँ, यह एक गलती है, 3.5 डिग्री सेगमेंट में साइन टेबल बनाये गये हैं जिनकी साइन और कोसाइन।

Read More

पश्चिमीयों के द्वारा भारतीय ज्ञान का अनुग्रहण

https://www.youtube.com/watch?v=YttpuDIZdJg?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   मैं आपको इस ज्ञान को प्रसारित करने के बारे में मध्ययुगीन यूरोप के बारे में बात करना चाहता हूं। टोलेडो में, अगर आपको याद है कि एक ईसाई स्पेन और मुस्लिम स्पेन था। मुस्लिम स्पेन कॉर्डोबा राजधानी थी; ईसाई पक्ष टोलेडो में टोलेडो में एक मठ था जिसका काम केवल

Read More

पाइथागोरस और भारतीय ज्ञान के साथ उनका संबंध

https://www.youtube.com/watch?v=OfsYksCadmY?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   पाइथागोरस जो इस समय के फ्रेम में रहते थे, ये सज्जन, जो सभी पश्चिमी, अल्बर्ट बुर्की और ए एन। मार्लो और जी आर एस मीड हैं, उनमें से प्रत्येक का कहना है कि पायथागोरस भारत गए जहां उन्होंने अपने दर्शन, ज्ञान और अन्य चीजें सीखा। ये इंडिक लोगों को यह

Read More

ब्रिटिश आक्रमणकारियों ने भारत को कैसे लूट लिया – विल ड्यूरेंट का ‘द केस फॉर इंडिया’

https://www.youtube.com/watch?v=d9xHoMorfzs?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   हम यह जानना चाहते हैं कि भारत में गरीबी का क्या कारण है? मैं 2 कार्यों को इंगित करना चाहूंगा, यह एंगस मैडिसन है जो नीदरलैंड्स में एक ऐतिहासिक अर्थशास्त्री है। उन्होंने वर्तमान युग के मोड़ से दुनिया की अर्थव्यवस्थाओं का अध्ययन किया 2003 तक एक तरह से, वह दिखाता

Read More

कीलडी और अरिकमेडू खुदाई से संकेत मिलता है कि दक्षिण भारतीय सभ्यता ५०० ईसा पूर्व से भी पुराना है

https://www.youtube.com/watch?v=I9B7Vfq16W4?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   हाल ही में हमें कीलडीकी कहानी के बारे में बताया गया है। कीलडीके पीछे एक रोमांचक कहानी मिली है। पुरातत्वविदों को मदुरै में खुदाई करना था हालांकि, मदुरै अन्य भारतीय शहरों की तरह ही है; बसे हुए, बहुत महंगा जमीन, पुरातत्व और इन जैसे चीज़ोंके लिए भूमि प्राप्त करने के

Read More

अर्थनैतिक दक्षिणपंथियों के क्रियाकर्म किस प्रकार से राष्ट्रविरोधी हैं?

https://www.youtube.com/watch?v=ruB7DY2exhA?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   अब दूसरी बात यह है की अर्थनैतिक रूप से दक्षिणपंथी लोग भी राष्ट्रविरोधी है। मैं मानता हूँ कि उदारवादी अर्थशास्त्र सतत विकास का विरोधी है। मुझे लगता है कि अयन रैंड जिन चीज़ों के बारे में बात करते है वह बिलकुल बकवास है; पर दक्षिणपंथा गरीब-विरोधी है ऐसा लगने लगा

Read More

राष्ट्र की भूमिकाएं क्या हैं और राष्ट्र को अपने नागरिकों को पूर्ण स्वतंत्रता क्यों नहीं देनी चाहिए

https://www.youtube.com/watch?v=t01QNlsf4rA?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   हम यह मानते है कि स्वतंत्रता, आज़ादी और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पूर्ण रूप से महत्वपूर्ण है। हम यह भी कहते हैं कि पूर्ण स्वतंत्रता और पूर्ण आज़ादी अराजकता के सिवा और कुछ नहीं है | अगर सभी को इजाजत दी जाती है के वह अपनी अपनी इच्छा के अनुसार कुछ

Read More

एक सच्ची, शुद्ध और अच्छी जाति व्यवस्था कभी थी ही नहीं

https://www.youtube.com/watch?v=bYkcqwKvxU0?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   दक्षिणपंथी विचारों में एक और समस्या यह भी है की यदि यहाँ आप एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय पर चर्चा करते ही नहीं हैं, वह विषय है जातिप्रथा | दक्षिणपंथी मंडलियों में जाति की चर्चा सिर्फ इस बारे में होती रहती है की वैदिक काल में जाति का मतलब क्या

Read More

सावरकर मानते थे कि एक राष्ट्र का उदय एक आधुनिक औद्योगिक समाज में ही संभव है

https://www.youtube.com/watch?v=79YwxJ0Y9R8?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1   अभी मैं जिस विषय पे चर्चा करूँगा वह है,दक्षिणपंथियों में एक बड़ा दोष यहहै कि हम कहां से आयेवहभूल गए हैं | सावरकर की सोच, जो मेरे हिसाब से दक्षिणपंथियों में एक व्यवस्थित राजनीतिक विचार है, उसका उद्देश्य किसी ग्रामीणयूटोपिया का संरचना करना नहीं है। यह एक कृषिमूलक यूटोपिया के

Read More

भारत में वामपंथी और दक्षिणपंथियो का विकास

https://www.youtube.com/watch?v=CyIBOkWYJr0?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 जब ब्रिटिश आए, उन्होंने कुछ शुरू किया था। उन्होंने भारत का व्यवस्थित रूप से अध्ययन करना शुरू किया | उन्होंने भारत का एक व्यवस्थित अध्ययन शुरू किया था, जिसे हम सभी भारततत्त्व या इंडोलोजी के रूप से जानते हैं। और अंग्रेजों ने अपने स्वयं के दृष्टिकोण से, अपने तरीके से,

Read More

आखिर ‘रुढ़िवादी’ शब्द का तात्पर्य क्या है?

https://www.youtube.com/watch?v=5mDQokkMVW0?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 जब हम खुद को रूढ़िवादी कहते हैं तो वास्तव में उसका क्या तात्पर्य है? मेरा मानना है की हम इससे चार चीज़ें दर्शाते है | सबसे पहले कि हम तथ्यों और आंकड़ों के आधार पर हमारे विचारों को खड़ा करते है। हम किसीकाल्पनिक दुनिया में रहने वाले उदारवादी नहीं हैं, हम

Read More

संविधान का अनुच्छेद २५ २(अ) और क्यूँ इसकी व्याख्या मौलिक रूप से सदोष है

धर्म से जुड़ीस्वतंत्रता के सम्बन्ध में सरकार के अधिकार संविधान के अनुच्छेद २५ और २६ में विहित हैं। अनुच्छेद २५ निजी व्यक्ति की धार्मिक स्वतंत्रता से जुड़ा और अनुच्छेद २६ सम्प्रदायों की धार्मिक स्वतंत्रता के विषय में है, इसलिये ये संस्थाओं की बात करता है और २५ और २६ परस्पर

Read More

हिन्दू अनुदान समिति का धन सरकारों द्वारा प्रयोग किया जा रहा है जो कि संविधान के अनुच्छेद २७ का उल्लंघन है

हिन्दुओं के मंदिरों से लिया गया पैसा दो चीजों में लगाया गया है, ईसाईयों की जेरूसलम यात्रा और मुसलमानों की हज यात्रा। यह हिन्दुओं के पैसे से हो रहा है। यदि मैं ईसाई या मुसलमान होता तो मैं यह कहता, मैं आहत होता कि हमारे पास क्या पैसा नहीं है?

Read More

हिन्दू धरम में ऋतूस्राव के देवता कौन हैं ?

अब ऐसी पद्धाथियाँ एक सकारात्मक बोध कराती हैं और उसपर यह कि हिन्दू मानतें हैं कि उनकी देवी भी रजस्वला होती हैं और उत्सव मनाएं जातें हैं उनके सम्मान में I एक त्यौहार हैं कामाख्या, आसाम का प्रसिद्द उत्सव I तो यह कामाख्या का उत्सव, शायद उसे अम्बुबाची कहतें हैं,

Read More

रजस्वला परिचर्या – आयुर्वेद के अनुसार ऋतुस्राव के समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं

आयुर्वेद कई नुस्खे देता हैं कि ऋतुस्राव के समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं जिसे रजस्वला परिचर्या I परिचर्या अर्थात् जीवन शैली I रजस्वला स्त्री को उन तीन दिनों में किस प्रकार की जीवन शैली अपनानी चाहिए ? चरका संहिता इसका सार देती हैं और कहती हैं कि, ऋतुस्राव के

Read More

त्रिदोष की धारणा – आयुर्वेदिक औचित्य और तत्व ऋतुस्राव की पद्धति में

वस्तुतः जो ऋतुस्राव की क्रिया का अनुभव करतें हैं वोह शायद भूल गएँ हैं कि ऋतुस्राव की क्रिया में एक आयुर्वेदिक औचित्य, आयुर्वेदिक तत्व भी हैं जिसके बारें में वेदों, धर्मशास्त्रों में बताया गया हैं I आयुर्वेद ऋतुस्राव को एक दैहिक प्रक्रिया मानता हैं जो त्रिदोषों के अधीन हैं I

Read More

शौच्य क्या हैं और वह इतना मत्वपूर्ण क्यों हैं

प्राण के स्तर पर पांच प्रकार के प्राण होतें हैं – प्राण, अपाना, व्याना, उदान, समना I आप आगे देखेंगे, आपको इन सबका वृत्तान्त ऑनलाइन मिल जाएगा योगिक मूल्ग्रंथों में इयातादी में I तो इन पाँचों में संतुलन, उन सबकी विशेष सक्रियता होती हैं, विशेष योगदान होता हैं हमारे शरीर

Read More

हिन्दू धर्म के अनुसार मानव व्यक्तित्व की पांच क्यारियाँ

आजकल, लगभद हमारे सारी, हमारा सारा ज्ञान आधुनिक विज्ञान के माध्यम से ही आता हैं I हम कहतें तो हैं कि हमारा विशेष प्राकृतिक शारीर हैं लेकिन अपने मन का एक स्वाधीन अस्तित्व होने को नकारतें है I वे कहतें हैं कि दिमागी गतिविधि ही सोचने-समझाने की शक्ति हैं, हिन्दू

Read More

जन्म का महात्म्य और हिन्दू धर्मं में गर्भपात को ब्रह्म्हाया क्यों माना गया हैं ?

https://www.youtube.com/watch?v=dO434gqkEt0?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 जन्म इतना महतवपूर्ण क्यों हैं? हमारे हिन्दू सम्प्रदाय में जन्म देना एक पवित्र बात मानी गयी हैं, बहुत बड़े पुण्य की बात, एक धार्मिक क्रिया जिसका पुण्य बहुत महान हैं, क्यों ? क्योकि जन्म देना सिर्फ बच्चे पैदा करना नहीं हैं, जो आजकल की भाषा में माना गया हैं I

Read More

ऋतुस्राव आत्मा शुद्धिकरण की प्रक्रिया है

https://www.youtube.com/watch?v=7S90QCZUKbE?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 अशौच्य की धारणा ऋतुस्राव से सम्बंधित हैं I तीसरा, पर वोह यहीं पर, कहानी यहाँ पर समाप्त नहीं होती; नहीं ! नहीं ! नारी अब जीवन्तता का रंग बन गयी हैं, दोष से संलघ्न हो गयी हैं, नहीं, बात वही तक सीमित नहीं रहती I कहा गया हैं, ऋतुस्राव की

Read More

क्यूँ सर्वोच्च न्यायालय ने तमिल नाडु सरकार को मन्दिरों का प्रशासन अधिग्रहीत करने से रोका

https://www.youtube.com/watch?v=nzbhJOtCfgE?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 मेरे अनुसार HRCE सम्बन्धित जितनी भी विधियाँ हैं वे सब इसी प्रपत्र से निकली हैं , पूरे देश में। पहले मैं आपको इसकी पृष्ठभूमिबताताहूँ।तमिल नाडू HRCE विधिनियम का एक कुख्यात अनुभाग है, अनुभाग ४५ जिसमें हिन्दू संस्थाओं में कार्यकारी अधिकारियों की नियुक्ति का विषय है।ये अधिकारी उस संस्था के प्रशासन

Read More

आन्ध्र प्रदेश सरकार के एक विधिनियम के विरुद्ध एक याचिका में क्या तर्क दिया गया

https://www.youtube.com/watch?v=gaddM0Cy6-I?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 तो , ये तर्क जो याचिका कर्त्ताओं की ओर से दिया गया, वे याचिका कर्त्ता जो आन्ध्र प्रदेश के कानून को चुनौती दे रहे थे, उसकी संवैधानिकता को लेकर। 'याचिका कर्त्ता के बुद्धिमान् अधिवक्ता के तर्कों में मुख्य यह है कि अनुच्छेद २५ और २६ धार्मिक क्रिया कलापों को व्यवस्थित

Read More

नोन रीफाउलमेंट के सिद्धान्त का केवल ये तात्पर्य नहीं ‘शरणार्थियों को निमंत्रित करो, उनको भारत में स्थापित और यहीं उनका पुनर्वास करो’

https://www.youtube.com/watch?v=Mdl3gy0RvJA?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 जब मेरे पास ये उदाहरण है, जिसको देश के सर्वोच्च न्यायालय से सम्मति मिली है, तीन सतत निर्णयों में, तब मैं ये समझना चाहता हूँ कि मैं ऐसा क्या कह रहा हूँ जो तथ्य व विधि द्वारा समर्थित नहीं है ? अब वे कहते हैं, नहीं नहीं, यदि भारत में

Read More

भारत की तरफ का प्राचीन व्यापार मार्ग, भारत को व्यापार अधिशेष का लाभ और इसका असर रोमानी अर्थनीति पर

https://www.youtube.com/watch?v=RJtIDrHTYHU?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 अब ऐसा ही हाल पश्चिम हिंदमहासागर में भी हो रहा था जब भारतीय रोमानी साम्राज्य के साथ व्यापारी सम्बन्ध बढ़ाते हैं और इस रोमन साम्राज्य की जड़ें और उस समय के बारें में हमें पता चलता हैं एक नियमावली से जिसका नाम हैं “डी पेरिप्लुस ऑफ़ डी एर्य्थ्रेअन सी” और

Read More

ओडिया – पूर्वी हिंदमहासागर में भारतीय नौसेना के अग्रगामी

https://www.youtube.com/watch?v=wITcjJm0iHg?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 अब कहीं न कहीं ओडिया ने महसूस किया कि, समुद्री तट के किनारे से सटकर जलयात्रा करना जटिल हैं और शायद जिसने ऐसी यात्रा कभी की हो, ने यह सुझाव रखा होगा कि दक्षिणपूर्वी एशिया के तट से सटकर यात्रा करने के बजाए, आसान होगा अगर, शरद ऋतू की मौसमी

Read More