Home > मन्दिरों को मुक्त करो

संविधान का अनुच्छेद २५ २(अ) और क्यूँ इसकी व्याख्या मौलिक रूप से सदोष है

धर्म से जुड़ीस्वतंत्रता के सम्बन्ध में सरकार के अधिकार संविधान के अनुच्छेद २५ और २६ में विहित हैं। अनुच्छेद २५ निजी व्यक्ति की धार्मिक स्वतंत्रता से जुड़ा और अनुच्छेद २६ सम्प्रदायों की धार्मिक स्वतंत्रता के विषय में है, इसलिये ये संस्थाओं की बात करता है और २५ और २६ परस्पर

Read More

हिन्दू अनुदान समिति का धन सरकारों द्वारा प्रयोग किया जा रहा है जो कि संविधान के अनुच्छेद २७ का उल्लंघन है

हिन्दुओं के मंदिरों से लिया गया पैसा दो चीजों में लगाया गया है, ईसाईयों की जेरूसलम यात्रा और मुसलमानों की हज यात्रा। यह हिन्दुओं के पैसे से हो रहा है। यदि मैं ईसाई या मुसलमान होता तो मैं यह कहता, मैं आहत होता कि हमारे पास क्या पैसा नहीं है?

Read More

क्यूँ सर्वोच्च न्यायालय ने तमिल नाडु सरकार को मन्दिरों का प्रशासन अधिग्रहीत करने से रोका

https://www.youtube.com/watch?v=nzbhJOtCfgE?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 मेरे अनुसार HRCE सम्बन्धित जितनी भी विधियाँ हैं वे सब इसी प्रपत्र से निकली हैं , पूरे देश में। पहले मैं आपको इसकी पृष्ठभूमिबताताहूँ।तमिल नाडू HRCE विधिनियम का एक कुख्यात अनुभाग है, अनुभाग ४५ जिसमें हिन्दू संस्थाओं में कार्यकारी अधिकारियों की नियुक्ति का विषय है।ये अधिकारी उस संस्था के प्रशासन

Read More

आन्ध्र प्रदेश सरकार के एक विधिनियम के विरुद्ध एक याचिका में क्या तर्क दिया गया

https://www.youtube.com/watch?v=gaddM0Cy6-I?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 तो , ये तर्क जो याचिका कर्त्ताओं की ओर से दिया गया, वे याचिका कर्त्ता जो आन्ध्र प्रदेश के कानून को चुनौती दे रहे थे, उसकी संवैधानिकता को लेकर। 'याचिका कर्त्ता के बुद्धिमान् अधिवक्ता के तर्कों में मुख्य यह है कि अनुच्छेद २५ और २६ धार्मिक क्रिया कलापों को व्यवस्थित

Read More