Home > मराठा

स्वराज्य से साम्राज्य तक : मराठा साम्राज्य के द्वारा ‘हिन्दवी स्वराज्य’ का एकीकरण

वर्ष : १७२० - औरंगजेब से हुये २७ वर्ष लम्बे बहुत ही कठिन युद्ध को जीते कुछ समय बीत चुका है पर शिवाजी महाराज का देश को आतंक से मुक्त कराने का लक्ष्य अभी भी मराठाओं की पहुँच से दूर है । अभी बहुत कुछ करना शेष है । अयोध्या,

Read More

औरंगजेब का अन्तिम अभियान

https://www.youtube.com/watch?v=otbQzK3VSnQ?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 तो इस समय औरंगजेब ने निर्णय लिया कि मैं अन्तिम अभियान पर जाऊँगा, सभी दुर्गों को जीतूँगा और पश्चिम महाराष्ट्र में मुगल राज्य स्थापित करूँगा और परिणामस्वरूप १७०० में, ८५ वर्ष के आयु में, औरंगजेब अपने जीवन के अन्तिम अभियान पर निकला, ये मुगलों के लिये एक सरल अभियान होना

Read More

क्यों औरंगजेब मराठाओं से अधिक क्षेत्र हथियाने में असफल रहा

  https://www.youtube.com/watch?v=6y3BVdLoONI?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 तो १६९० के दशक में युद्ध का ये प्रभाव था कि मराठा वास्तव में शक्तिशाली सेना बनाने में समर्थ हुये । उन्होंने छापामारी के युद्ध की मारो और भागो की वही नीतियाँ अपनायीं, ये संघर्षण का युद्ध था और बहुत स्थानों पर युद्ध लड़े जाते हैं । इसके परिणामस्वरूप मुगल

Read More

मराठा सेनानायक सन्ताजी घोरपड़े का औरंगजेब की छावनी पर आक्रमण

https://www.youtube.com/watch?v=jn7-0z71aXg?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 इसके अलावा एक बहुत ही साहसी छापा संताजी घोरपड़े ने औरंगजेब के निजी तम्बू पर मारा । इस समय औरंगजेब का तम्बू कोरेगांव में था, जो कि पुणे के समीप है और वे योजना बना रहे थे यहाँ से चाकन के दुर्ग को जीतने की । उसकी समूची छावनी यहीं

Read More

शिवाजी के दक्षिण भारत के अभियान पर जाने का कारण

https://www.youtube.com/watch?v=nnY-pRlpL5U?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 और ये करने के पश्चात्, राज्याभिषिक्त होने के पश्चात्, छत्रपति शिवाजी दक्षिण भारत के अभियान पर गये और एक ऐसे साम्राज्य का निर्माण किया जो कि जिञ्जी तक विस्तृत था, आप देख सकते हैं कि ये है छत्रपति शिवाजी द्वारा निर्मित मूल राज्य । ये स्वराज्य है, कारवार से नासिक

Read More

छत्रपति शिवाजी के द्वारा मुगल आक्रोश को पराजित करने हेतु किये गये उपाय

  https://youtu.be/X-NTUf7d0oM?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 अब हम दुर्गों पर आते हैं, जैसा मैंने उल्लेख किया कि कैसे देवगिरि का दुर्ग लड़ा गया या कहें हारा गया । और शिवाजी ने क्या किया कि उन्होंने किस प्रकार दुर्ग बनाये जाएँ इसको लेकर बहुत परिवर्त्तन किये । उन्होंने अनेकों प्रवेश व निकास द्वार बनवाये । यदि आप

Read More

हिन्दवी स्वराज्य का आदर्श : किन घटकों से इसका निर्माण हुआ

https://www.youtube.com/watch?v=INVBllP_pG0?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 छत्रपति शिवाजी ने बहुत से प्रशासनिक और सैन्य सुधार किये, जिन्होंने मराठाओं को बाद के समय में दृढ़ रहने में बहुत सहायता की । ये सब रामचंद्र पन्त की लिखी पुस्तक, आज्ञापत्र में दिए गये हैं, इस व्यक्तित्व के बारे में हम बाद में चर्चा करेंगे । छत्रपति शिवाजी की

Read More

शिवकवि कविराज भूषण

Lyrics: - कविराज भूषण इन्द्र जिमि जंभपर , वाडव सुअंभपर | रावन सदंभपर , रघुकुल राज है || 1 || पौन बरिबाहपर , संभु रतिनाहपर | ज्यो सहसबाहपर , राम द्विजराज है || 2 || दावा द्रुमदंडपर , चीता मृगझुंडपर | भूषण वितुण्डपर , जैसे मृगराज है || 3 || तेजतम अंसपर , कन्हजिमि कंसपर | तो म्लेंच्छ

Read More

मराठा – मुगल युद्ध : अनीश गोखले द्वारा एक व्याख्यान

  https://www.youtube.com/watch?v=C7pD4D1bZco&t=105s नमस्कार ! सुसायम् ! सबसे पहले मैं धन्यवाद करना चाहूँगा सृजन फाउंडेशन का और इंटैक का भी, साथ ही यहाँ उपस्थित सभी लोगों का जिन्होंने मुझे आमन्त्रित किया । मैं मुगलों और मराठाओं के विषय पर बोलूँगा, विशेषकर के १६८० - १७०७ के बीच के कालखण्ड के बारे में और

Read More