Home > हिन्दी

लद्दाख से बीजेपी सांसद जमयांग त्सेरिंग नामग्याल का धारा 370 को जम्मू-कश्मीर से हटाने को लेकर वक्तव्य

https://m.youtube.com/watch?feature=youtu.be&v=76PPM2aOpJs मैं डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी जैसे वीरों का, कुशोक बकुला रिंपोचे जैसे महान व्यक्तियों का, थुप्स्तान सेवांग जैसे लोग जिन्होंने लद्दाख को एक दिशा दिया कि हमें भारत के साथ रहना है, भारत का जयकार करना है, अपने देश के लिए मर मिटने को तैयार रहना है। यहां पर लोग

Read More

पलानी बाबा का उपदेश – भाग 2

Source: - Hindupost.in Read First Part Here. आईएसआईएस और अल-कायदा के इस युग में मुसलमानों के कट्टरपंथीकरण की प्रक्रिया और तरीकों के बारे में बहुत कुछ लिखा गया है। बुद्धिजीवी और राजनेता समान रूप से, खनिज तेल से वित्त पोषित सऊदी वहाबी विचारधारा को इसके लिए दोषी ठहरा रहे हैं जो आधुनिक

Read More

भारत में बलपूर्वक धर्मान्तरण हेतु ईसाई चर्च द्वारा नरसंहार

https://www.youtube.com/watch?v=cnjnAp5YceM&t=25s Watch The Full Talk here : https://youtu.be/abOyMwfT9Nw भारत में ईसाइयत का प्रचार कैसे हुआ यह एक बहुत आश्चर्यजनक तथ्य है ईसाई मिशनरी भारत में शरणार्थी के तौर पर आए थे। सीरिया के ईसाई मालाबार के अंदर अपने ही धर्म के लोगों से प्रताड़ित होते थे। उस समय विश्व में ज्यादातर जगहों पर

Read More

गुरु तेग बहादुर का धर्मार्थ प्राण त्यागने से पहले औरंगजेब के साथ संवाद

https://www.youtube.com/watch?v=DBFIiqysBIY?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 गुरुदेव बोले, "300 वर्ष पहले हमारे देश में औरंगजेब नाम का निर्दयी राजा था। उसने अपने भाई को मारा, पिता को बंदी बनाया और स्वयं राजा बन गया। उसके उपरांत उसने निश्चय किया कि वो भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाएगा।" "क्यों गुरुदेव?" "क्योंकि उसने सोचा कि यदि दूसरे देशों को इस्लामिक राष्ट्र

Read More

भारत में इसाई मिशनरियों के विषय में डॉ. सुरेंद्र जैन का व्याख्यान

https://www.youtube.com/watch?v=RPfQxZ3ZZ0M इससे जुड़ा हुआ दूसरा प्रश्न, जो सामान्यतः भारत में ही पूछा जाता है, और वह प्रश्न है कि अगर यह धर्मांतरण करते हैं तो आपको क्या आपत्ति है ? क्योंकि भारत का संविधान आर्टिकल 25 कहता है कि सभी को अपना धर्म मानने, उसका प्रचार करने, और उसे विस्तार करने

Read More

भारत में गांजा का महत्व — प्रिया मिश्रा द्वारा एक व्याख्यान

यूनान, चीन, मिस्र आदि प्राचीन सभ्यताओं में तथा यहूदी, ताओ, बौद्ध, सिख व इस्लाम जैसे धर्मों में गांजा या भांग नामक वनस्पति को बहुत महत्व दिया गया है और इसका प्रयोग औषधि के रूप में किया जाता रहा है| तथापि गांजा के सबसे पुरातन उल्लेख भारत में मिलते हैं| सनातन धर्म

Read More

इसाई पंथ और भारत – डॉ. सुरेन्द्र कुमार जैन का व्याख्यान

संपूर्ण विश्व में प्रेम व शान्ति का स्वरुप माने जाने वाले इसाई धर्म के विस्तार का इतिहास रक्त से सना है, ये तथ्य कम ही लोग जानते हैं| यूनान, रोम व माया जैसी कई प्राचीन संस्कृतियाँ इसाई मिशनरियों के हाथों जड़ से मिटा दी गयीं| अनगिनत देशों की भोली-भाली प्रजा

Read More

आयुर्वेद का महत्व — जिज्ञासा आचार्या द्वारा एक व्याख्यान

प्राचीन काल से चली आ रही भारतीय आध्यात्म, ज्ञान और विज्ञान की अविरल परंपरा का एक अभिन्न अंग है आयुर्वेद| आयुर्वेद ऐसी प्रायोगिक चिकित्सा पद्धति है जिसे केवल वैद्यों-चिकित्सकों ने ही नहीं, परन्तु सामान्य जनों ने अपने जीवन में, विशेषकर अपने रसोईघरों में आत्मसात कर लिया| और यही कारण है

Read More

भारतीय गुरुकुल शिक्षा प्रणाली — मेहुलभाई आचार्य का व्याख्यान

भारतीय परंपरा में मनुष्य जीवन के सबसे महत्वपूर्ण मूल्यों में से शिक्षा को सबसे उच्च का स्थान दिया गया है| पुरातन काल से भारतवर्ष समस्त विश्व के लिए ज्ञान का स्रोत रहा है और भारत के ज्ञान का सर्वप्रथम स्रोत हैं हमारे वेद| एक सुसंस्कृत व्यष्टि को समष्टि की नींव

Read More

घर वापसी में रामानंद जी का योगदान

https://www.youtube.com/watch?v=KObhh12mrY0?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 जो लोग रामानंद को काटते हैं, जो लोग रामानंद से कबीर को अलग कर देते हैं, उनका पूरा agenda  ही इसी line पर चलता हैं के, वे आपको ...आपके सामने कुछ ऐसा तर्क नहीं देंगे ऊल -जलूल type की बातें करेंगे I लेकिन रामानंद जी का योगदान बहुत ज़्यादा हैं

Read More